शुक्रवार, 23 सितंबर 2011

बधाई!!


दू गो ब्लोगर आपस में जुटेगा त का बतियाएगा? आप सोचियेगा कि सिकायत छोडकर अउर कोनो बात बतियाइये नहीं सकता है. मगर इसका अपबाद भी होता है, अर्चना के साथ बतियाने में नया गाना सुनने को मिलता है अउर परिबार का बात करने में एकदम घरेलू बातचीत. हमरी बेटी त जबसे फेसबुक पर दोस्त बनी है, तब से रोज एगो खिस्सा सुनाती है कि आज अर्चना बुआ ने ये कहा और आज वो.
बस अभी ओही सब चल रहा था कि हम अचानक १२ बजे तनी देर के लिए गायब हो गए. जब लौटे त ऊ पूछी कि कहाँ चले गए थे. “मैं डिस्टर्ब तो नहीं कर रही आपको?” हम बोले कि नहीं रे भाई! ऊ अपने मनोज जी हैं न, उनका ब्लॉग का सालगिरह है, दू साल हो गया उनके ब्लॉग का. बस उनको बधाई देने चले गए थे. मनोज जी त बत्ती बुताकर बइठे हुए थे. चैट में बधाई दिए त झट से उठकर बइठ गए. पूछे, “जगले हैं का?” अउर हमरा जवाब सुनला के पहिलहीं अंतर्धान.
अर्चना बोली कि मैं भी बधाई देना चाह रही हूँ. हम बोले कि एही मौक़ा है. मनोज जी बहुत सेवा करते हैं ब्लॉग जगत का. तुम उनका एगो पोस्ट का पॉडकास्ट बनाओ. बोली कि बिना उनके अनुमति के कइसे बनाएँ. हम बोले कि हम हैं न, छोट भाई हैं अब हम राम नहीं हैं त का हुआ, ऊ त लछमन हैं ना. हम अपना ब्लॉग पर लगा देंगे. छांटकर एगो पोस्ट का लिंक पकड़ाए ऊर एगो अनोखा तोहफा का तैयारी में जुट गए. 

त बस दस मिनट में बना हुआ ई पोस्ट/पॉडकास्ट एगो ब्लॉगर का, दोसरे ब्लॉगर के साथ मिलकर, तीसरे ब्लॉगर को उपहार है. मनोज जी, ब्लॉग जगत में नया नाम नहीं हैं. दू साल के सफर में ई अपना परिचय अपने आप हैं. इनके साथ उनके ब्लॉग में सामिल सभी लोगों को हमारे तरफ से बधाई अउर सुभकामना!!

हाजिर  है ई पॉडकास्ट.. "मनोज" ब्लॉग को समर्पित:

53 टिप्‍पणियां:

  1. मनोज जी अपने समस्त ब्लोगों ( राजभाषा,आंच,विचार )के माध्यम से जो हिंदी की सेवा कर रहे हैं वह अनुकरणीय और प्रसंशनीय है.उनके ब्लॉग अपने आप में एक अलग ही उत्कृष्टता रखते हैं.उन्हें बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  2. आज त कमाल पर कमाल होते जा रहा है।
    हम तो सोचिए रहे थे कि हम पहिला होंगे
    हमको का मालूम कि शिखा जी हमसे पहले बाजी ले जाएंगी और पहिले उनको ही धन्यवाद कहना पड़ेगा।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बड़े भाई आपका बड़प्पन हमको आज फिर यह कहने पर मज़बूर कर रहा है कि आप त रुलाने का ठेका ले रखे हैं।

    शाम को कोलकाता से चला था। देर शाम दिल्ली पहुंचे। छुप के इसलिए बैठे थे कि आपको कल सएअप्राइज़ देते आपके ऑफिस में धमक कर। लेकिन आप त पहिलहिए सर्प्राइज़ देने का पूरा और पुख्ता इंतज़ाम कर रखे थे।

    उत्तर देंहटाएं
  4. अर्चना जी का क्या कहना? इतना बढिया पोडकास्ट की हैं कि लगता ही नहीं कि ई लेख हम लिखे हैं। इसके एक एक शब्द को जी गई हैं। भगवान उनको तरक्की दे। आशीष और शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  5. अर्चना आपका बहुत-बहुत आभार। आप लोग जब किसी रचना को महत्त्व देते हैं तो लगता है, इस ब्लॉग-सागर में हम भी कुछ तो हैसियत रखते हैं। आपने हमारी रचना को बहुत मान -सम्मान दिया आपका धन्यवाद, सलिल भाई आपके आशीर्वाद से और प्रेरणा मिली है कि आपकी आशाओं और आकांक्षाओं पर खड़ा उतरें।
    अर्चना से कह कर मेरी दो पोस्ट, जो मुझे काफ़ी प्रिय हैं, का पोडकास्ट करवाइएगा। एक “ब्लेसिंग” लघु कथा। और दूसरी “बिखरी चीज़ें” व्यंग्य।

    उत्तर देंहटाएं
  6. अर्चना जी का क्या कहना? बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें....!

    उत्तर देंहटाएं
  7. हार्दिक शुभकामनायें !
    राजभाषा की जैसी सेवा मनोज जी कर रहें हैं वह किसी राष्ट्रनिर्माण के कार्य से कम नहीं है। सलिल भाई मेरे ब्लोग जगत के एग्रीगेटर हैं। उससे अनुमोदित होकर आने वाली पोस्ट बहुत ध्यान से पड़्ता हूं।
    मनोज जी के ब्लोगस् और अर्चना जी की पौड्कास्ट अक्सर ही सलिल भाई सुझाते हैं।
    अर्चना जी की आवाज़ का जादू सम्मोहित करने वाला है। एक बार फिर दोनों को हार्दिक "बधाई"

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुन्दर पाडकास्ट! खासकर गाने वाले हिस्से।
    मनोज बाबू को ब्लागिंग के दो साल पूरा करने की बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  9. अर्चना जी रुखे ब्लॉगजगत में मधुरता घोल रही हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  10. सब सुन रहे हैं हमको काहे नहीं दिखाई दे रहा है...पाडकास्ट?

    उत्तर देंहटाएं
  11. सुन लिया..सुन लिया..जान में जान आई। ...मस्त है। अर्चना जी की आवाज का मैं भी मुरीद हूँ।

    उत्तर देंहटाएं
  12. अर्चना चाओजी और मनोज भाई चुपचाप जो कार्य कर रहे हैं वह अद्वितीय है ! जहाँ हिंदी भाषा की सेवा में मनोज भाई अद्वितीय हैं, वहीँ अर्चना ब्लॉग जगत की अनजान शख्शियत को भी अपनी आवाज के जरिये, प्रकाश में ला, आत्मविश्वास और हिम्मत प्रदान करने में समर्थ हैं !
    औरों की मदद के लिए किया गया, यह एक बेहद श्रमसाध्य कार्य है !
    अर्चना जी को मुबारकबाद देता हूँ !

    उत्तर देंहटाएं
  13. सबकुछ 'जान'दार है। मनोज जी की रचना में जान है, अर्चना जी की आवाज में जान है। गाने भी उन्‍होंने बहुत जान लगाकर गाए हैं। और आपकी प्रस्‍तुति में भी जान है। तो भई जान है तो जहान है। बधाई हो सबको।

    उत्तर देंहटाएं
  14. दू साल हो गया उनके ब्लॉग का.
    बस उनको बधाई देने चले गए थे.

    अति सुन्दर ||

    बधाई |

    उत्तर देंहटाएं
  15. आपके माध्यम से हमारी भी बधाई पहुंचे , वैसे मेरी नई कविता पर आपकी टिपण्णी नहीं आयी. मन उद्विग्न है.! नाराज हैं का भाई !

    उत्तर देंहटाएं
  16. भाई जी आप जो करते हैं कमाल करते हैं...मनोज जी को तो बधाई दे ही देगें...लेकिन पहले आपको ढेरों बधाई देंगें...अर्चना जी ने भी अद्भुत पाड कास्ट प्रस्तुत की है...आवाज़ तो माँ सरस्वती ने उन्हें दिलकश दी है, उसका उपयोग भी वो खूब करती हैं...

    नीरज .

    उत्तर देंहटाएं
  17. बधाई देने का यह अंदाज पसंद आया , शुभकामनाएं |

    उत्तर देंहटाएं
  18. मनोज जी को ब्लॉग जगत में दो साल पुरे करने की बधाई और शुभकामनाये |

    उत्तर देंहटाएं
  19. मनोज जी को दू साल पूरे होने की बधाई! [आप जैसा मित्र पाने की बधाई तो निहित ही है]

    उत्तर देंहटाएं
  20. प्रोत्साहन और मुबारकवाद का यह अंदाज़ ही कुछ और है। "चचा बिहारी..." का तो मैं पहले से ही अनुसरण करता हूँ अब अर्चना जी की सम्मोहक आवाज और सहयोगी भावना का भी मुरीद हो गया हूँ। चचाजी ने धन्यवाद बोलने से मना किया है इसी लिये, "आभार"।

    उत्तर देंहटाएं
  21. बहुत बहुत बधाईयां आप सबको। निर्लिप्त रूप से हिंदी की सेवा सही मायने में चंद लोग कर रहे हैं, उनमें से आप तीनों अग्रणी हैं।
    मनोज जी को पढ़ता रहता हूँ, भविष्य में और नियमित होंगे।
    पुन: बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  22. ye salil ji aap hain? hamare mastishk me to vo topi wali safed balo wale babuji ki chhavi chhayi hui thi. wah kya photo shoot hai. dono hi ishmaarat lag rahe hain.

    hamari gali aana chhod diye hain..aur na hi apna id dete hain. na hi rajbhasha par aate hai.....bahuuuuuuuuuuuut shikayte hain aapse :(

    उत्तर देंहटाएं
  23. @अनामिका जी:
    अब तो इतने भाई-भतीजों से घिरा हूँ (भाई-भतीजावाद से दूर)कि बस उनकी स्मार्टनेस ही मुग्ध करती है!! धन्यवाद आपकी कोम्प्लिमेंट हेतु!!
    छोड़ा कुछ भी नहीं है, बस थोड़ी व्यस्तताओं ने पढाना मोहाल कर रखा है!! सितम्बर का महीना हम बैंकर्स के लिए "बेटी के बिआह" जैसा होता है.. बिदा हो तो चैन का साँस लें.
    आपकी शिकायत के लिए क्षमा!!

    उत्तर देंहटाएं
  24. सलिल जी ...आपके माध्यम से मनोज जी को उनके "मनोज " ब्लॉग की साल गिरह पर बधाई ... अर्चनाजी ने बहुत जानदार आवाज़ में फुर्सत में सुनाया ... उनका आभार ... और आपके मनोज जी के लिए इस स्नेह के लिए नमन ..

    उत्तर देंहटाएं
  25. मनोज जी के हिंदी के योगदान कि कितनी भी तारीफ़ कि जाये वह कम है इससे ज्यादा कुछ कहने के लायक हम नहीं हैं|

    उत्तर देंहटाएं
  26. मनोज जी को ब्लॉग जगत में दो साल पुरे करने की बधाई और शुभकामनाये |

    उत्तर देंहटाएं
  27. ॒@ सलिल भैया, "नया गाना सुनने को मिल्ता है" अच्छी तरह से जानती हूँ..हा हा हा
    @ मनोज जी ,आपका ही लिखा है ..फ़िर से पढ़ियेगा तो ...
    बाकी सभी लोगों का आभार और धन्यवाद , जिन्होमें इसे सुनने के लिए वक्त दिया ..

    उत्तर देंहटाएं
  28. मनोज जी को बहुत-बहुत बधाई। ज्ञान की खान हैं उनके सभी ब्लाग्स।
    अर्चना जी की जानदार प्रस्तुति मनभावन है।

    उत्तर देंहटाएं
  29. सनोज कुमार जी एवं सलील वर्मा जी- आप लोगों का सामीप्य-बोध अच्छा लगा । आप लोगों के पोस्ट पर आते ही मन एकदम से सचेत हो जाता है कि कहीं कोई बात गलत न हो जाए । आप लोगों का आपस का प्यार बना रहा एवं मुझ पर आपकी कृपा दृष्टि बनी रहे, यही काफी है । मैने जो कुछ भी सीखा है उसका श्रेय श्री मनोज कुमार जी को जाता है साथ ही आपको भी क्योंकि आपकी भाषा-शैली भी अच्छी लगने के कारण आपका पोस्ट भी आत्मीय सा लगता है । धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
  30. आज तो कुछ नहीं कहूँगा, बस बधाई के लिए सलिल भाई और रचना जी को हार्दिक धन्यवाद कहूँगा। एकबार फिर से आभार।

    उत्तर देंहटाएं
  31. अंतरजाल पर उत्कृष्ट साहित्य सहजने में मनोज जी का योगदान उल्लेखनीय है ...
    बहुत बधाई और शुभकामनाये!

    उत्तर देंहटाएं
  32. सुन्दर प्रस्तुती! बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनायें !
    मेरे नए पोस्ट पर आपका स्वागत है-
    http://ek-jhalak-urmi-ki-kavitayen.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  33. आप तीनों को ही हार्दिक बधाई।
    और विशेष आभार इस पॉडकास्ट का।

    उत्तर देंहटाएं
  34. मनोज जी, ब्लॉग जगत में नया नाम नहीं हैं. दू साल के सफर में ई अपना परिचय अपने आप हैं. इनके साथ उनके ब्लॉग में सामिल सभी लोगों को हमारे तरफ से बधाई अउर सुभकामना!!

    उत्तर देंहटाएं
  35. सब से पहले मनोज दादा को बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं !

    कुछ कीजिये इस बार भी फीड नहीं आई इस लिए आने में देर हो गई !

    उत्तर देंहटाएं
  36. मनोज जी के ब्लॉग के दो वर्ष पूरा होने पर बहुत ही आत्मीय,जीवंत,सहृदयी और भावपूर्ण बधाई पसंद आई ...तकनीकी कारणों से पॉडकास्ट पूरी नहीं सुन सका हूँ।

    मनोज जी को बहुत-बहुत बधाई ...इसी प्रकार अनवरत लिखते रहें।

    उत्तर देंहटाएं
  37. आप ... मनोज जी और अर्चना जी ... सभी जाने पहचाने नाम हैं ... और इस पोडकास्ट के बारे में क्या कहूँ ... लाजवाब ... बस लाजवाब ...

    उत्तर देंहटाएं
  38. मनोज बाबू ,आपको और अर्चना जी सभी को साधुवाद !

    उत्तर देंहटाएं
  39. हार्दिक बधाई और बहुत ही अच्छा लिखा आपने | आभार

    उत्तर देंहटाएं